NGO Meaning in Hindi

What is NGO Meaning in Hindi, NGO Meaning in Hindi, NGO definition in Hindi, NGO Ka Meaning Kya Hai, NGO Kya Hai, NGO Ka Kya Matlab Hota Hai, Meaning and Definitions of NGO in Hindi.

NGO का हिंदी मीनिंग: - गैर सरकारी संगठन, होता है।

NGO की हिंदी में परिभाषा और अर्थ, एनजीओ को एक निश्चित सांस्कृतिक, शैक्षिक, धार्मिक या सामाजिक कार्यक्रम के रूप में परिभाषित किया जा सकता है, जो केंद्र सरकार के साथ Registered है, NGO को Non Profit Organisations के रूप में जाना जाता है।

NGO Definition in Hindi

NGO Stands for “Non- Governmental Organization” और जैसा की हमने ऊपर भी बताया है, कि NGO को हिंदी में “गैर सरकारी संगठन” कहते है. NGO एक ऐसी संस्था होती है तो किसी भी Government द्वारा संचालित नही कि जाती और न ही किसी लाभ या किसी भी Company का promotion के लिए बनाई जाती है. NGO का मुख्य कार्य गरीब व असहाय बच्चो कि मदद, वरिष्ठ नागरिको और Environment जैसे Problems को हल करना होता है. यह Institutions किसी आम आदमी, सरकार या किसी व्यवसायिक संस्थान द्वारा स्थापित कि जाती है. NGO को किसी समुदाय, शहर स्तर, राष्ट्रिय स्तर या अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किया जाता है।

यह गैर-लाभकारी Organization जो किसी भी सरकार से स्वतंत्र रूप से संचालित होता है. आमतौर पर जिसका उद्देश्य किसी Social या Political issues को संबोधित करना होता है, कोई भी गैर-लाभकारी Organization अन्य कुछ भी नहीं है, एक NGO एक जैसे लोगों का Group है जो वास्तव में समाज की परवाह करते हैं और उस साहस को Positive change लाने के लिए उन सीमाओं से परे धकेल देते हैं जिसे हर कोई देखना चाहता है लेकिन कई कारणों से इसे बनाने में सक्षम नहीं है।

NGO को केंद्र सरकार के साथ पंजीकृत एक निश्चित सांस्कृतिक, शैक्षिक, धार्मिक या सामाजिक कार्यक्रम के रूप में परिभाषित किया जा सकता है, गैर सरकारी संगठन का पूर्ण रूप गैर सरकारी संगठन है, गैर सरकारी संगठन भी कभी-कभी गैर लाभ संगठनों (NPO) के रूप में जाना जाता है।

NGO Kya Hai

एक गैर-सरकारी संगठन एक गैर-लाभकारी संगठन है जो किसी भी सरकार (इस मामले में भारत सरकार) के स्वतंत्र रूप से काम करता है. जिसका एकमात्र उद्देश्य सामाजिक और राजनीतिक मुद्दे पर काम करना है, ताकि एक अच्छा जीवन-स्तर प्रदान करने के लिए अपने स्वयं के स्वयंसेवकों के साथ मिलकर काम किया जा सके, ताकि एक राष्ट्र सामाजिक रूप से भी विकसित हो सकता है।

NGO अपने स्वयंसेवकों के साथ हाथ से हाथ मिलकर काम करता है, मूल रूप से एक NGO अपने स्वयंसेवकों के बिना कुछ भी नहीं है।

एक एनजीओ के लिए कई लोग स्वयंसेवक हैं और हमारे समाज की बेहतरी के लिए दान भी करते हैं।

हमने इस पोस्ट में आपके लिए भारत में गैर-सरकारी संगठनों की एक सूची तैयार की है: -

  • Help Age India − यह 1978 में स्थापित एक गैर सरकारी संगठन है जिसका एकमात्र उद्देश्य पूरे भारत में बुजुर्गों की मदद करना है। इसका प्रधान कार्यालय दिल्ली में स्थित है।

  • Pratham − इसकी स्थापना 1994 में, मुंबई में प्रधान कार्यालय के साथ की गई थी, और 1994 से यह एनजीओ चिल्ड्रन एजुकेशन के लिए काम कर रहा है और भारत की मुकदमेबाजी दर को बढ़ा रहा है

  • Nanhi Kali − यह एक एनजीओ है जो 1996 में मुंबई में अपने मुख्य कार्यालय के साथ स्थापित की गई थी और इस एनजीओ का उद्देश्य पूरे भारत में बालिकाओं को शिक्षा प्रदान करना है।

  • CRY − यह एनजीओ 1979 से, हर बड़े राज्य में अपने कार्यालयों के साथ यह NGO बाल अधिकारों के लिए काम कर रहा है

NGO Meaning Detail In Hindi

NGO एक ऐसे संगठन होती हैं, जिनमे सरकार का कोई भी role नहीं होता है. मेरा कहने का मतलब सरकार भी इसमें कोई भी हस्तक्षेप नहीं कर सकती है. NGO का उद्देश्य लोगों की सेवा करना होता है ना कि व्यापार की तरह इससे फायदा निकालना, NGO Organization का निर्माण किसी के द्वारा भी किया जा सकता है, किसी व्यापार आधार या कोई भी व्यक्ति द्वारा इसे जो चाहे वह स्थापित कर सकता है. आज के समय में कुछ लोग संयुक्त संगठन खोलते हैं तो कुछ लोग व्यक्तिगत NGO भी खोलते हैं NGO एक बहुत ही Large scale पर काम करते हैं कुछ NGO दान के उद्देश्य के लिए भी खोले जाते हैं।

दोस्तों अगर आप भी आपने खुदा एक NGO बनाने के बारे में सोच रहे है तो आपको बता दूँ के NGO बनाने के कुछ नियम राज्यवार भिन्न होते है. NGO बनाने कि प्रक्रिया भी सभी राज्य से भिन्न होती है. NGO का Construction करने के लिए कम से कम 11 लोगो का होना जरूरी है. आपको अपने NGO के लिए उद्धेश्य व सभी नियम तैयार कर लेने चाहिए. आपको NGO के लिए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, Treasurer, Advisor, सदस्य आदि सभी तय कर लेना चाहिए. NGO में सभी लोगो को अपने अधिकार पता होने चाहिए. NGO का गठन करने के लिए सभी के Signature व सभी सदस्यों कि मंजूरी होनी चाहिए।

NGO कितने प्रकार के होते हैं

एनजीओ कई प्रकार के होते हैं, क्योंकि एनजीओ कई basis पर divide किया जाता है, और उसके लिए बहुत से फ़ैक्टर भी उत्तरदायी होते हैं, पर हम इनमें से कुछ ही एनजीओ के बारे में जानते हैं तो आइये देखते है −

  • Bingo Business Friendly International NGO

  • Tango Technical Sssistant NGO Sssistance NGO

  • Dongo Donor Organized NGO

  • ONGO Government Operated NGO

  • Mango Market Advocacy NGO

  • Charts Community Health and Rural Development Society

  • GSO Grassroots Support Organization

  • CSO Civil Society Organization

  • NGO Environmental NGO

भारत में एनजीओ क्या है?

एनजीओ किसी के द्वारा न तो "स्वामित्व" है और न ही लाभांश के रूप में इस तरह से लाभ वितरित कर सकता है. आर्थिक गतिविधियों से वे जो भी मुनाफा कमा सकते हैं, उसे पुनः प्राप्त किया जाता है या उचित गैर-लाभकारी गतिविधियों पर खर्च किया जाता है।

गैर-सरकारी संगठनों के लिए राजस्व के सामान्य स्रोत दान, एकतरफा और बहु-पार्श्व एजेंसियों, सदस्यता शुल्क, विविध स्रोतों और ब्याज और निवेश पर लाभांश से अनुदान अनुदान हैं।

Other Related Post

  1. Product Meaning in Hindi

  2. Incredible Meaning in Hindi

  3. Propaganda Meaning in Hindi

  4. About Meaning in Hindi

  5. Entrepreneur Meaning in Hindi

  6. Police Meaning in Hindi

  7. Being Meaning in Hindi

  8. Whether Meaning in Hindi