Police Meaning in Hindi

What is Police Meaning in Hindi, Police Meaning in Hindi, Police definition in Hindi, Police Ka Meaning Kya Hai, Police Kya Hai, Police Ka Kya Matlab Hota Hai, Meaning and Definitions of Police in Hindi.

Police का हिंदी मीनिंग; आरक्षी, नगर व्यवस्था, पुलिस, नगर पाल गण, नगर-रक्षक, नगर-व्यवस्थापक, कोतवाल, नीति, आदि होता है।

Police की हिंदी में परिभाषाएँ और अर्थ , त्वरित रुप से किसी कार्य को अंजाम देने के लिए गठित दल।

Police का पूरा नाम Protection Of Life In Civil Establishment होता है। पुलिस आधिकारिक संगठन है जो यह सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार है कि लोग कानून का पालन करते हैं।

Police Verb in Hindi

व्यवस्थित करना

इंतिज़ाम रखना

शासन करना

जाँच करना

राज्य करना

नियंत्रण करना

Police सुरक्षा बलों का एक पार्ट होता है, जिसे किसी भी देश के अंदर की सुरक्षा करने के लिए बनाया गया है. दोस्तों हर देश का अपना एक पुलिस विभाग होता है. Police का काम आपने देश के हर नागरिक की सुरक्षा करना होता है. अगर किसी देश में किसी व्यक्ति के साथ कोई बुरा व्यवहार करता है, तो वह व्यक्ति पुलिस को इन्फॉर्म करके उस व्यक्ति की शिकायत कर सकते है. जिसने उसके साथ बुरा व्यवहार किया है, और जो नागरिक बुरा व्यवहार कर रहा है पुलिस उस नागरिक को कड़ी सजा देने का का करती है. उसके अपराध को देखके पुलिस और बहुत से कार्य करती है, पुलिस का काम होता है वह देश के अंदर कड़ी सुरक्षा लोगों प्रदान करे जिससे की लोग सुरक्षित रह सके।

What is Police Definition in Hindi

Police जिसे पुलिस बल भी कहा जाता है, आदेश को बनाए रखने, अपराध को रोकने और पता लगाने और कानूनों को लागू करने के लिए एक संगठित नागरिक बल।

पुलिस, सरकार के नागरिक प्राधिकरण का प्रतिनिधित्व करने वाले अधिकारियों का निकाय. पुलिस आमतौर पर सार्वजनिक व्यवस्था और सुरक्षा को बनाए रखने, कानून को लागू करने, और आपराधिक गतिविधियों की जांच, पता लगाने और रोकने के लिए जिम्मेदार होती है. इन कार्यों को पुलिसिंग के रूप में जाना जाता है, पुलिस को अक्सर विभिन्न लाइसेंसिंग और नियामक गतिविधियों के साथ सौंपा जाता है।

हालांकि, पुलिस के विद्वानों ने पुलिस शब्द की इस लोकप्रिय समझ की आलोचना की है - कि यह एक सार्वजनिक संगठन के सदस्यों को संदर्भित करता है. जो कानून को बनाए रखने और कानून को लागू करने के लिए कानूनी कारणों से दो कारणों से कहते हैं. सबसे पहले, यह पुलिस को उनके लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए उपयोग करने वाले विशिष्ट साधनों के बजाय उनके सिरों द्वारा परिभाषित करता है. दूसरा, पुलिस को जिन स्थितियों में हस्तक्षेप करने के लिए कहा जाता है, वे कानून प्रवर्तन और आदेश रखरखाव से बहुत अधिक हैं।

शोधकर्ताओं के बीच अब सर्वसम्मति है, जो अमेरिकी समाजशास्त्री ईगन बिटनर द्वारा प्रस्तावित पहली परिभाषा के आधार पर है कि पुलिसिंग में लगी सभी विभिन्न एजेंसियों के बीच आम विशेषता समस्याग्रस्त स्थितियों को हल करने के लिए जबरदस्ती, गैर-व्यावहारिक उपायों को लागू करने की कानूनी क्षमता है. ऐसी स्थितियों को दो विशेषताओं की विशेषता है: नुकसान की संभावना और उस क्षमता को विकसित करने से पहले उन्हें तुरंत हल करने की आवश्यकता। इसलिए, जबरदस्ती का वास्तविक उपयोग या इसके उपयोग की धमकी पुलिस को समस्याग्रस्त स्थितियों में त्वरित, गैर-विवादास्पद और निर्णायक अंत करने की अनुमति देती है (जैसे, लोगों को अपनी सुरक्षा के लिए आग के दृश्य से दूर रखना और फायरमैन को अनुमति देना उनकी नौकरी)।

पुलिस अधिकारी अपने देश, क्षेत्र या शहर में एक कानून प्रवर्तन एजेंसी के कर्मचारी होते हैं. आमतौर पर पुलिसकर्मी, पुलिसकर्मी, या कांस्टेबल कहलाते हैं. पुलिस अधिकारी उन नागरिकों की रक्षा करने और उनकी सेवा करने की शपथ लेते हैं जिनका वे प्रतिनिधित्व करते हैं. उन्हें अपराधियों को गिरफ्तार करके और अपराधों का पता लगाने और रोकने के द्वारा कानून को लागू करने के लिए सरकार द्वारा वारंट दिया जाता है. क्योंकि शांति को बनाए रखना समाज की प्राथमिक आवश्यकता है, पुलिस अधिकारी सभ्यता शुरू होने के बाद से आसपास हैं. वे आमतौर पर अपने समुदायों के भीतर नायकों के रूप में देखे जाते हैं क्योंकि अक्सर खतरनाक परिस्थितियों में वे जनता की सेवा में मुठभेड़ करते हैं।

पुलिस में भर्ती कैसे हुआ जा सकता है

वर्तमान समय में हमारे देश के लाखों युवा ऐसे हैं जो police में भर्ती होने के लिए police exam की तैयारी कर रहे हैं, और इसका exam भी देते रहते है, दोस्तों लेकिन पुलिस बनने का सपना इन लाखों में से सिर्फ कुछ हजारों का ही पूरा हो पाता है, पुलिस विभाग में भर्ती होना इतना भी आसान नहीं है, इसके लिए आपको कड़ी मेहनत और लगन के साथ तैयारी करने की जरुरत होती है, पुलिस की तैयारी करने के कुछ rules होते हैं, अगर आप इन rule को सही सही follow करते हैं, तो आपका Police force में शामिल होना आसान हो सकता हैं.

हम आपको बताना चाहते हैं, कि कुछ राज्य में सबसे पहले written exam ली जाती है, और उसके बाद आपका physical test भी लिया जाता है जबकि कुछ राज्य ऐसे भी होते हैं, जिसमें written exam नहीं लिया जाता है, उसमें High School और Intermediate की अंक तालिका के आधार पर ही पुलिस की नौकरी में selection किया जाता है, पुलिस में बहुत से पद होते हैं, जिन पदों पर पहुंचना इतना आसान काम नहीं होता है उन पदों पर पहुंचने के लिए आपके पास अच्छी योग्यता होना बहुत जरुरी है. पुलिस में भर्ती होने के लिए आपका फिट होना भी बहुत जरुरी है जिससे की आपको पुलिस में आसानी से लिया जा सके।

अगर आप Police में जाना चाहते है तो इसके लिए आपको Police एग्जाम निकालने के तुरंत बाद हैं, एग्जाम फॉर्म भरना होता है. एक बार जब आप एग्जाम फॉर्म भर देते है तो उसके बाद आपका एग्जाम लिया जाता है, और exam के बाद आपको physical ability test भी देना होगा, आपकी जानकारी के लिए बता दे की इसमें Candidate की छाती की चौड़ाई और कद की माप की जाती है. दोस्तों ध्यान रहे, general category के लिए पुलिस उम्मीदवारों का कद 172 सेंटीमीटर होना चाहिए जबकि वह लोग जो OBC category से आते हैं. उन का कद लगभग 168 सेंटीमीटर होना चाहिए, और अगर हम बात करें छाती की तो बिना छाती फुलाएं आपकी छाती की चौड़ाई 83 सेंटीमीटर और छाती फुलाने के बाद आपकी छाती 87 सेंटीमीटर यह सामान्य वर्ग के लिए है, और यदि आप आरक्षित श्रेणी में आते हैं. तो इसके लिए आप की छाती बिना बुलाए होनी चाहिए 81 सेंटीमीटर और छाती फुलाने के बाद आपकी शादी होनी चाहिए 85 सेंटीमीटर तय की गई है, Police force में भर्ती होने के लिए आपको इन सब एग्जाम से गुजरना होता है।

Other Related Post

  1. Product Meaning in Hindi

  2. Incredible Meaning in Hindi

  3. Propaganda Meaning in Hindi

  4. About Meaning in Hindi

  5. Entrepreneur Meaning in Hindi

  6. Police Meaning in Hindi

  7. Being Meaning in Hindi

  8. Whether Meaning in Hindi